Breaking News
recent

वज़न घटाने वाले आहार

मोटापे की तेजी से बढ़ती समस्या पूरे देश और दुनिया के लिये एक बड़ी चुनौती बन चुकी है। लेकिन इससे निपटने के लिये भो जन करना बंद करने की जरूरत नहीं, क्योंकि ऐसे कई खाद्य पदार्थ होते हैं, जिनके सेवन से शरीर की कैलोरी खपत अधिक होती है।
1
वज़न घटाने वाले आहार

मोटापे की तेजी से बढ़ती समस्या पूरे देश और दुनिया के लिये एक बड़ी चुनौती बन चुकी है। लेकिन इससे निजात पाने के लिये क्या खाना ही बंद कर दिया जाए? जी नहीं, भोजन बंद करने के कोई जरूरत नहीं, क्योंकि ऐसे कई खाद्य पदार्थ होते हैं, जिनके सेवन से शरीर की कैलोरी खपत अधिक होती है और वजन घटता है। कमाल की बात तो यह है कि ये आहार बेहद लज़ीज होते हैं और इन्‍हे आप रोजाना खा सकते हैं। साथ ही इनके सेवन से शरीर को स्‍फूर्ति और ऊर्जा भी मिलती है। तो चलिये जानेत हैं कौंन से हैं वे आहार जिन्हें खाकर अधिक कैलोरी बर्न होती हैं।

2
साबुत अनाज

कई अध्‍ययनों से ये साफ हुआ है कि साबुत अनाज के नियमित सेवन से शरीर को भरपूर ऊर्जा मिलती है और कैलोरी की खपत भी अधिक होती है। इनके सेवन से मेटाबॉलिज्म मजबूत होता है और बीमारियां से बचाव होता है। प्रोटीन, विटामिन और कार्बोहाइड्रेट भरपूर साबुत अनाज के सेवन से पाचन क्रिया भी बेहतर होती है और बार-बार भूख भी नहीं लगती।

3
मौसमी

मौसमी अर्थात ग्रेपफ्रूट के सेवन से मेटाबोलिज्‍म अच्छा रहता है और यह कैलोरी बर्न करने में भी मदद करता है। मौसमी में फाइबर भरपूर मात्रा में होते हैं। साथ ही इसके या इसके जूसके इसके सेवन से शरीर में ग्‍लूकोज की पर्याप्‍त मात्रा रहती है।

4
बर्फ से करें कैलोरी बर्न

कई आहार विशेषज्ञ बर्फ से कैलोरी बर्न करने की सलाह भी देते हैं। भले ही बर्फ से वजन में कोई आश्चर्यजनक बदलाव न आए, लेकिन थोड़ी-बहुत कैलोरी तो जरूर कम होती हैं। बर्फ खाने से मेटाबॉलिज्म तेजी से काम करने लगता है और शरीर की कुछ ऊर्जा बर्फ को गर्म करने में खर्च होगी।

5
ग्रीन टी
ग्रीन टी में ऐसे गुण होते है जो मेटाबोलिजम को तेज करते हैं। रोज़ाना ग्रीन टी का सेवन करने से कई खतरनाक बीमारियों से भी बचाव होता है। ग्रीन टी में प्रचुर मात्रा में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट शरीर को स्वस्थ और निरोग रखते हैं। इसे नियमित तौर पर सुबह के समय खली पेट पीने से वजन घटता है और ताजगी मिलती है।

6
ओमेगा-3
इस संबंध में कई शोध हो चुके हैं और यह प्रमाणित कर चुके हैं कि ओमेगा-3 के सेवन से मेटाबोलिज्‍म दुरूस्‍त बनता है। यह एक प्रकार का फैटी एसिड होता है, जोकि लेप्टिन लेवल हारमोन पर प्रभाव डालता है, और कैलोरी खर्च करने में मदद करता है। ओमेगा-3, शरीर में खुद से नहीं बनता है इसलिए इसे मछलियों और बीन्‍स आदि से प्राप्‍त किया जाता है। टूना, हियरिंग, साल्‍मन आदि मछलियों में ओमेगा-3 प्रचुर मात्रा में होता है।

7
सिलिरे

सिलिरे में कई लाभकारी तत्‍व मौजूद होते हैं। इसके सेवन से कैलोरी की मात्रा शरीर में कम पहुंचती है, किंतु ऊर्जा लगातार प्राप्त होती है। यह एक प्रकार का पत्तेदार साग होता है, जिसमें कई प्रकार के पोषक तत्‍व मौजूद होते हैं।

8
कॉफी

रोज़ सुबह कॉफी के साथ की गई शुरूआत शरीर को ऊर्जा और स्फूर्ति से भर देती है। इसमें मौजूद कैफीन हमें ऊर्जा देती है और सचेत करती है। क़फी पीने से हार्ट रेट बढ़ जाता है और रक्‍त में ऑक्‍सीजन की मात्रा भी बढ़ती है, साथ ही कैलोरी भी काफी बर्न हो जाती है। लेकिन ध्यान रखें कि यदि आप अगर इसमें चीनी और क्रीम को मिला देंगे तो इसके गुण कम हो जाते हैं। बेहतर होगा कि इसे बिना चीनी के ही पियें।

9
एवोकाडो

एवोकाडो, श रीर की वसा को बहुत तेजी से तीन गुना वसा को खत्‍म करता है। एवोकाडो में असंतृप्‍त वसा होता है जो मेटाबोल्जिम को बनाएं रखती है और शरीर की कोशिकाओं को ऊर्जा भी देती है, ताकि उन्‍हे क्षति न हो। इसके सेवन से कोलेस्‍ट्रॉल लेवल का स्तर कम होता है, घाव जल्‍दी भर जाते हैं और दिल के रोग होने की आशंका भी कम होती है। यह बालों व आंखों के लिए भी स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक होता है।

10
चिया सीड

चिया सीड या बीजों में प्रोटीन, फाइबर और ओमेगा-3 वसा प्रचुर मात्रा में होता है और यह मेटाबोल्जिम, पाचनक्रिया और ग्‍लूकॉन को बेहतर करता है। इसके सेवन से हारमोन्‍स में परिवर्तन होता है और फैट कम हो जाता है। आप चिया सीड को दही, सलाद के साथ या भिगो कर कच्चा भी खा सकते हैं।

No comments:

Theme images by merrymoonmary. Powered by Blogger.